सब्ज़ी बेचने वाली रईसा ने अधिकारियों को अंग्रेज़ी में सिखाया सबक, सोशल मीडिया पर वीडियो हुआ वायरल

देश
Typography

इंदौर की मालवा मिल स्थित  सब्जी मंडी में एक अजब गजब गजब मामला देखने को मिला।बता दें सब्जी मंडी में नगर निगम के द्वारा सब्जी बेचने पर रोक लगा दी गई । इस बात पर ठेला सब्जी विक्रेता आक्रोशित हो गए हैं, उनके सामने रोजी रोटी को लेकर संकट खड़ा हो गया है।ऐसे में  लोग परेशान हैं, दूसरे नगर निगम का यह रवैया उन्हें आक्रामक होने पर मजबूर कर रहा है ।

सब्जी मंडी में ठेला हटाने की बात से आहत होकर एक महिला सामने आई फर्राटेदार इंग्लिश बोलकर अधिकारियों की बोलती बंद कर दी, महिला ने अपना नाम रईसा अंसारी बताया, वही वह इस बात में दिलचस्प मोड़ तब आया आया जब पता चला फर्राटेदार इंग्लिश बोलने वाली महिला  ने पीएचडी कर रखी है, रईसा का कहना है वर्ग विशेष के होने के नाते पीएचडी करने के बावजूद उन्हें नौकरी नहीं मिली अब वही कोरोना को लेकर मुस्लिम समुदाय को घेरा जा रहा है कोरोनावायरस के लिए मुस्लिम समाज को जिम्मेदार ठहराया जा रहा है। रईसा ने नगर निगम के अधिकारियों के सामने अपनी बात  रखते सबकी बोलती बंद कर दी। रईसा ने बताया कि अगर नगर निगम के द्वारा उनके व्यवसाय को खत्म किया जाता है, वहां से हटाया जाता है ,तो उनके सामने परिवार के भरण-पोषण को लेकर एक समस्या उत्पन्न हो जाएगी उनके घर में छोटे बच्चे बड़े बुजुर्ग सभी हैं। उनके पेट भरने का कोई दूसरा जरिया नहीं बचेगा। ऐसे में सब्ज़ी विक्रेता काफी आक्रामक हो चुके है वही रईसा को देखकर काफी भीड़ भी लगी रही।रईसा का कहना है उनका परिवार लगभग 60 वर्षों से  सब्जी मंडी में सब्ज़ी बेचने का  व्यवसाय कर रहा है पहले तो कभी ऐसी घटना नहीं हुई ,सब्जी बेचने से अब उन्हें रोका जा रहा है।एक तरफ सरकार पकोड़ा बेचने की बात करती है ,दूसरी तरफ समाज मे इतने पढ़े लिखे लोगों का भी कोई स्थान नही दिख रहा है, मेहनत की कमाई पर भी सरकार लात मारने का काम कर रही, कोरोना की वजह से आज देश के हालात बेहद ख़राब हो चुके है गरीबों का गुज़र बसर करना मानो नामुकिन हो गया है। आज देश मे कोई कोरोना से जूझ रहा है ,तो समाज के कुछ लोग एक वक़्त की रोटी के बारे में भी नही सोच पा रहे है।

Youtube पर भी हमे Follow करें

हमारा Twitter एकाउंट Follow करें

Today News Bulletin

हमारा Facebook पेज Like करें

Latest News