कोरोना काल मे मोहर्रम की मजलिस और जुलूस के मद्देनज़र शिया तंज़ीम ने लिखा केंद्र सरकार को पत्र

देश
Typography

दिल्ली: 20 अगस्त से मोहर्रम की शुरुआत हो रही है।लेकिन पूरी दुनिया मे कोरोना महामारी की वजह से हालात खराब है इसी बीच लॉक डाउन और सोशल डिस्टेंसिंग का भी सरकार का आदेश है ऐसे में शोहदाये कर्बला की याद में मोहर्रम बनाने के लिए हर एक अजादार परेशान है।

 

हर साल पूरे दुनिया में बड़े पैमाने पर  शियाने हैदर कर्रार मोहर्रम मनाते हैं लेकिन इस बार कोरोना महामारी की वजह से लोग खौफ मे है।सरकार के द्वारा सामाजिक ,राजनीतिक और धार्मिक सभी प्रकार के आयोजनों पर रोक लगी हुई है ।

इसी कड़ी में हज़रत साहेबुज़मान फाउंडेशन के संस्थापक  मौलाना अली हैदर नक़वी ( अमरोहा) के द्वारा  केंद्र सरकार को एक पत्र लिखा गया। जिसमें कहा गया कि ‌सरकार को भरोसा दिखाया जाता है की सामाजिक दूरी का खयाल करते हुए मौहर्रम मनाए जाने की शासन प्रशासन इजाज़त दे।

 

बता दे हर साल केंद्र सरकार प्रदेश सरकार के द्वारा अज़ादारी में पूरा समर्थन किया जाता रहा है , पूरे भारत के कोने कोने में अज़ादार मजलिस, जुलूस का इंतेज़ाम करते है ,वही क़ानून व्यवस्था को बनाये रखते मोहर्रम मनाए जाने की  सरकार से अपील की गई।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

Youtube पर भी हमे Follow करें

हमारा Twitter एकाउंट Follow करें

Today News Bulletin

हमारा Facebook पेज Like करें

Latest News