लखनऊ प्रशासन के बयान पर कल्बे जव्वाद का पलटवार, इमामबाड़े में 24 घण्टे मजलिस करने की दी चेतावनी

देश
Typography

 लखनऊ: शिया धर्म गुरु मौलाना कल्बे जव्वाद ने बड़े इमामबाड़े में  24 घण्टे मजलिस करने का एलान किया है।बता दे  बड़े इमामबाड़े को मज़हबी जगह नही कहने की बात सामने आई है जिसे शिया समुदाय में आक्रोश है मौलाना सय्यद कल्बे जव्वाद नकवी ने कहा है कि जब तक जिला मजिस्ट्रेट  बड़ा इमामबाड़ा से सम्बन्धित अपने बयान को वापिस और इमामबाड़े धार्मिक स्थल होने का तहरीरी ऐलान नहीं करते, तब तक हमारा प्रदर्शन जारी रहेगा।

उन्होने बीती रात बड़े इमामबाड़े में मजलिस को सम्बोधित किया। उन्होने कहा कि अब इमामबाड़े मे दिन में 11 बजे मजलिस भी होनी है। उसके बाद 24 घण्टे मजलिस व मातम और अज़ादारी होगी। उन्होने शहर की सभी 150 मातमी अन्जुमनों को मुख़ातिब करते हुए कहा कि अशरे ऊला के दौरान अज़ादारी जितने कार्यक्रम नहीं हो सके हैं वह सब बड़े इमाम बाड़े में कल से अन्जाम दे। मौलाना कल्बे जव्वाद ने कहा कि आग पर मातम, अलम फातेह फुरात ,शब्बेदारी के प्रोग्राम भी बड़े इमामबाड़े मे करें।वही प्रशासन की इस बात से मौलाना कल्बे जव्वाद आक्रोशित हो गए है उन्होंने कहा  अंग्रेज़ी अख़बार ” इण्डियन एक्स्प्रेस” में बयान आया था जिसमे जिलाधिकारी ने कहा था कि  हम यह तहक़ीक़ करेगे कि इमामबाड़ा मज़हबी मुक़ाम है कि नहीं । मौलाना कल्बे जव्वाद ने मजलिस मे “ज़ुल्म और अदल” पर बात करते हुआ कहा कि हक़दार को उसका हक़ देना अदल है और उसका हक छीनना ज़ुल्म है। इमाम बाड़ा के सिलसिले में हुसैनाबाद ट्रस्ट के चेयरमैन के तौर पर जिम्मेदारी निभा रहे जिला मजिस्ट्रेट, लखनऊ के द्वारा की गई टिपणी ने एक नया विवाद पैदा कर दिया है। 

 उन्होनें जिला मजिस्ट्रेट से उनकी इस टिपणी को लिखित तौर पर वापिस लेने का मुतालबा किया है। यह विवाद उस वक़्त शुरु हुआ जब अनलाक – 4 की गाईड लाईन आने के बाद ज़िला मजिस्ट्रेट की ओर से बड़े इमाम बाड़े और छोटे इमामबाड़े मे पर्यटकों के लिये इजाज़त दी गई लेकिन मजलिस सय्यदुस शोहदा बरपा करने की इजाज़त नहीं दी गई। मौलाना कल्बे जव्वाद ने बड़े इमामबाड़े के गेट पर प्रेस कान्फ्रेंस के ज़रिये मजलिस की इज़ाज़त देने की मांग उठाई और ऐलान किया कि इजाज़त न मिलने पर भी वह बड़े इमामबाड़े मे मजलिस बरपा करेंगे। 

Youtube पर भी हमे Follow करें

हमारा Twitter एकाउंट Follow करें

Today News Bulletin

हमारा Facebook पेज Like करें

Latest News