एक बार फिर लोगों को रुला रहा है प्याज़, आलू ने भी आम इंसान की थाली से बनाई दूरी

देश
Typography

प्याज़ के दामों में ज़बरदस्त उछाल आया है। आम दिनों में 20 से 25 रुपये किलो बिकने वाला प्याज़ 60 रुपये किलो बिक रहा है। कोरोना काल में बढ़ती महंगाई लोगों की परेशानी का सबब बना हुआ है। प्याज़ के साथ आलू के दाम में भी बढ़ोतरी देखने को मिल रही है। व्यापारियों की माने तो आलू प्याज़ की क़ीमत में तेज़ी बनी रहेगी और लगभग एक महीने तक लोगों को महंगाई से राहत नहीं मिले पाएगी।

बाज़ार में आलू-प्याज़ की भरपूर आवक है। लेकिन दाम अधिक होने के कारण लोगों को खरीदने के लिए कई बार सोचना पड़ रहा है। महाराष्ट्र क्षेत्र में हुई भारी बारिश के चलते प्याज की फसल को काफी नुकसान पहुंचा है। प्याज की फसल को नुकसान की खबर सामने आने के बाद ही प्याज के दाम में उछाल आना शुरू हो गया था।   लेकिन बीते तीन दिनों में प्याज के दाम में उछाल आया और बाजार में प्याज 60 रुपये किलो बिक रहा है। प्याज ही नहीं आलू के दाम में भी बढ़ोत्तरी हुई है। सप्ताह भर पहले आलू 35 से 40 रुपये किलो फुटकर बाजार में बिक रहा था, वही आलू अब 40 से 50 रुपये किलो पहुंच गया है। आलू प्याज के थोक व्यवसायी का कहना है कि आलू प्याज के दाम में बढ़ोत्तरी हुई है। प्याज 70 रुपये किलो व थोक में 60 रुपये किलो है।

इसी प्रकार आलू थोक में 40 रुपये किलो व फुटकर में 45 रुपये किलो बिक रहा है। प्याज की फसल खराब होने के कारण दाम में बढ़ोत्तरी देखने को मिल रही है। दीपावली तक प्याज के दाम ऐसे ही बने रहने की संभावना है, जिसके बाद प्याज के दाम में कमी आ सकती है। आलू के दाम में एक माह तक तेजी रहेगी। नया आलू आने के बाद आलू के दाम में कमी आ जाएगी।  थोक व्यापारियों के पास आलू प्याज के दाम बढ़ोतरी होने के कारण फुटकर में भी आलू प्याज के दाम बढ़ गए हैं। दूसरी ओर बढ़ते दामों के बीच जमाखोरी भी शुरू हो जाती है।

Youtube पर भी हमे Follow करें

हमारा Twitter एकाउंट Follow करें

Today News Bulletin

हमारा Facebook पेज Like करें

Latest News