अगर आपके पास भी कोई ख़ास खबर है तो हमें हमारे ईमेल या whatsapp पर भेज सकते हैं- mobile 9548948471 email- editor.vohnews@gmail.com

शिया वक्फ बोर्ड के चेयरमैंन वसीम रिजवी कर रहे सीबीआई जांच से बचने को बयानबाजी: मौलाना कल्बे जव्वाद

उत्तर प्रदेश
Typography

यहाँ क्लिक करके हमारा फेसबुक पेज लाइक करें

नौगावां सादात/अमरोहा: नौगावां सादात में मरहूम अल्लामा फ़िरोज़ हैदर आब्दी की मजलिस पढने आये  शिया धर्मगुरू मौलाना कल्बे जव्वाद ने आरोप लगाते हुए कहा कि शिया वक्फ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिजवी भ्रष्टाचार में लिप्त हैं तथा सीबीआई जांच से बचने के लिए बाबरी मस्जिद के संबंध में बयानबाजी कर रहे हैं। बाबरी मस्जिद उनकी पुश्तैनी जायदाद नहीं है। इस मामले में आपसी बातचीत बेहतर विकल्प है, अन्यथा अदालत का फैसला सभी को मंजूर होगा।

 

गुरुवार को मौलाना कल्बे जव्वाद नौगावां सादात के मोहल्ला बड़ी इमली पर मौलाना हबीब हैदर आब्दी के पिता अल्लामा फ़िरोज़ हैदर आब्दी की मजलिस पढने आये थे। यहां प्रेसवार्ता के दौरान उन्होंने हाल ही में शिया वक्फ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिजवी द्वारा बाबरी मस्जिद के संबंध में दिए गए बयान को गलत बताया। कहा कि बाबरी मस्जिद का मामला वसीम रिजवी का पुश्तैनी नहीं है। यह देश के मुसलमानों की आस्था से जुड़ा हुआ है। जब मामला अदालत में विचाराधीन है तो वह कौन होते हैं इस प्रकार के बयान देने वाले। मौलाना ने कहा कि वसीम रिजवी भ्रष्टाचार में लिप्त हैं तथा सीबीआई जांच से बचने के लिए इस प्रकार के बयान दे रहे हैं।

 

बाबरी मस्जिद व राम मंदिर मसले का हल सबसे पहले आपसी बातचीत के आधार पर निपटाया जाना चाहिए। अदालत का जो आदेश होगा वह मुल्क के मुसमलानों के लिए मान्य होगा। पूर्व मंत्री आजम खां से अपनी तल्खियों के बारे में उन्होंने कहा कि आजम खां से उनका निजी मनमुटाव नहीं है। सपा सरकार भ्रष्ट थी तथा इसके खिलाफ आवाज उठाने पर आजम खां रंजिश रखने लगे। शिया व सुन्नी वक्फ बोर्ड की सभी संपत्तियों की जांच की जानी चाहिए। हज हाउस को लेकर हुए विवाद पर मौलाना कल्बे जव्वाद ने कहा कि यह मामला हज कमेटी के अधीन है। कमेटी के पदाधिकारियों को इस मसले में हस्तक्षेप करना चाहिए था। इस मौके पर  मौलाना हबीब हैदर, आशी आब्दी, शामील शम्सी, मीसम रिज़वी आदि मौजूद रहे।

Latest News