लाकडाउन में संपन्न हुई शादी

उत्तर प्रदेश
Typography

आमोद तिवारी(फर्रुखाबाद):  पूरे देश मे कोरोना महामारी के चलते सभी सामाजिक आयोजनों पर रोक लगा दी गई है। हजारो लोगो के विवाह की तारीख भी इस लाकडाउन के चलते बदल गई है। शहर कोतवाली क्षेत्र के गांव अमेठी कोहना में बौद्ध धर्म को मानने वाले नव दम्पत्ति ने सरकार और स्वास्थ्य विभाग की गाडलाइन का फॉलो करते हुए बौद्ध धर्म के अनुसार वैवाहिक जीवन मे प्रवेश किया है।

 

काजल पुत्री अजय कुमार शाक्य , वर पक्ष से कमल पुत्र अशोक कुमार शाक्य दोनों तरफ से जिला प्रसाशन से परमीशन लेने के बाद पांच पांच लोग विवाह स्थल पर एकत्र हुए। जिसमे सोशल डिस्टेंस के साथ सभी लोग मास्क लगाए हुए दिखाई दिए। यह विवाह बौद्धाचार्य रामबरन सिंह शाक्य ने सम्पन्न कराया है। विवाह के दौरान वर-बधू से पांच पांच प्रतिज्ञाएं कराई गई है।

इस सामान्य विवाह पर क्या बोले वर और बधू -

इस विवाह को लेकर जब दूल्हा बने कमल से बात चीत की गई तो उन्होंने बताया कि वह केरल में नौकरी करते थे। फरवरी में विवाह तय होने के बाद से घर पर रहते थे। विवाह की तारीख पहले 11 अप्रैल तय की गई थी। हर रिश्तेदारी में कार्ड भी वितरण कर दिए गए थे। लेकिन लॉक डाउन के चलते वह तारीख कैंसिल करनी पड़ी थी। उन्होंने कहा कि अभी तो लाकडाउन चल रहा है। उस बजह से सामान्य तरीके से विवाह किया है। लेकिन इस प्रकार से सभी को हमेशा विवाह करना चाहिए जिससे तमाम खर्चो की बचत होती है। जो पैसा बचत में आता है। उसको किसी भी व्यापार में लगाया जा सकता है।।

नव विवाहित काजल का कहना है कि यदि विवाह लॉक डाउन के बाद होता तो तमाम प्रकार के खर्चो का बोझ हमारे पिता व ससुराल पक्ष पर पड़ता । लेकिन विवाह सादगी के साथ सम्पन्न हुआ उससे मुझे बहुत खुशी है।

Youtube पर भी हमे Follow करें

हमारा Twitter एकाउंट Follow करें

Today News Bulletin

हमारा Facebook पेज Like करें

Latest News