Thursday, April 25, 2024
No menu items!
Homeइंसानियत के रखवालेनौगावां सादात में मुसलमानों की बड़ी ईद “ग़दीर” के उपलक्ष में जुलूस...

नौगावां सादात में मुसलमानों की बड़ी ईद “ग़दीर” के उपलक्ष में जुलूस निकाला गया

यहाँ क्लिक कर हमारा फेसबुक पेज लाइक करें

रिपोर्ट: शहजाद आब्दी, दिनांक 10/09/2017 नौगावां सादात: मौला अली सोसाइटी के तत्वाधान में जुलूसे ईद ऐ ग़दीर मोहल्ला मेन   बाज़ार अज़ाखाना मरहूम हाजी सय्यद मोहम्मद बाक़र साहब  से निकाला गया जिसमे नौगावां सादात के सभी लोगो ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया | मदरसा जामिया तुल मुन्तज़र के पूर्व प्रिंसिपल मौलाना सय्यद नईम अब्बास साहब की जुलूस में शुरवाती तक़रीर के बाद जलूस निकाला गया मौलाना ने तक़रीर में ग़दीर के बारे में लोगो को समझाया

 

 

मौलाना ने कहा ईद ऐ ग़दीर मुसलमानों की बड़ी ईद है इस्लाम धर्म के प्रवर्तक मोहम्मद साहब ने अपने जीवन के आखिरी समय में अपने आखरी हज से वापसी के समय सऊदी अरब में स्थित ग़दीर नामक स्थान पर अल्लाह के हुक्म से यह एलान किया मन कुन्तो मोला फ़हाज़ा अलिउन मोला कि जिस-जिस का मै मोला हु,  यह अली उस उस के मोला है  उन्होंने अपने अनुयायियों को अल्लाह के हुक्म से ये आदेश दिया कि मेरे बाद अली का दामन पकडे रहना और अली के बताये हुवे रास्ते पर चलना | अगर अली के बताये रस्ते पर चलोगे तो कभी रुसवा ना होगे और अगर तुम सीधे रस्ते चले तो तुम्हें म्रत्यु उपरांत अच्छा मक़ाम मिलेगा जिसे जन्नत(स्वर्ग) कहते है| रसूले खुदा ने ग़दीर के मैदान में खुतबये ग़दीर(भाषण) दिया जिसमे कहा की अरबी को अजमी व अजमी को अरबी पर कोई भी फ़ज़ीलत नहीं है सभी लोगो को बराबर समझना चाहिये |  उस भाषण के बाद रसूल ने कहा की आज इस ऐलान के बाद इस्लाम मुक्कमल हो गया और अली को अपना उत्तराधिकारी नियुक्त किया इस लिए मुस्लमान आजके दिन को ईद के रूप में मानते है इस जलूस में हाजी सय्यद हसन, शोबी रज़ा, नईम अब्बास, कुमैल अब्बास, अब्बास अली(नजफ़),  मुबीन ज़ैदी, अब्बास अली, मोहम्मद मुस्तुफा, नदीम, इमाम अली, नवाब रज़ा, मोहम्मद हैदर, रजब अली, माहे आलम, एजाज़ हैदर, नदीम ज़ैदी, शहजाद आब्दी, मोहम्मद रज़ा, जैनुल एबाद आदि मौजूद रहे.

 

 

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments