Thursday, April 25, 2024
No menu items!
Homeउत्तर प्रदेशदर दर भटकने के बाद मर गई दहेज पीड़िता, नौगॉव सादात पुलिस...

दर दर भटकने के बाद मर गई दहेज पीड़िता, नौगॉव सादात पुलिस ने नहीं दर्ज की एफ आई आर

 
नौगॉवां सादात: मामला थाना नौगॉवां क्षेत्र  के ग्राम बड़खेड़ा सादात निवासी ओम प्रकाश पुत्र स्व कन्हैया लाल का है इन्होंने अपनी पुत्री तन्नू (23वर्ष) की शादी सन 2016 में दिल्ली  मंगोलपुरी निवासी नरेश पुत्र चन्द्रभान के साथ की थी।

नरेश एक ऑटो ड्राइवर है। शादी के बाद से ही नरेश ने अपनी पत्नी पर बाप के यहां से मोटरसाइकिल लाने का दबाव बनाना शुरू कर दिया था और मारपीट करने लगा था। शुरू में तो तन्नू ने परिवार की इज्जत व अपने बाप के हालातों की वजह से बात को उजागर नहीं किया और पीड़ा सहती रही। मगर इस रक्षाबंधन पर तन्नू के पति नरेश ने तन्नू के साथ मारपीट की ओर तन्नू के पिता को फोन कर मोटरसाइकिल की मांग की और कहा कि अगर मोटरसाइकिल नहीं दी या कहीं शिकायत करी तो मैं तन्नू को जान से मार दूंगा। तीन दिन पहले नरेश ने अपने भाइयों के साथ मिलकर तन्नू के साथ मारपीट की जिसकी वजह से तन्नू के सर पर चोट लगी, मारपीट के बाद नरेश ने तन्नू को घर से निकाल कर पास  ही बने एक मंदिर पर छोड़ आया।  मंदिर पर तन्नू की हालत बिगड़ने लगी तो किसी ने तन्नू के परिजनों को फोन पर जानकारी दी। यहां से तन्नू के पिता दिल्ली मंगोलपुरी मंदिर पहुंचे तो देखा उनकी बिटिया बेहोशी की हालत में थी। पास में ही किसी डॉक्टर को दिखाया तो उसने बताया कि लड़की के सिर में गंभीर चोट लगी है और उसका इलाज किसी बड़े अस्पताल में कराना पड़ेगा। गरीब पिता के पास इलाज के लिए पैसे ना होने की वजह से वो अपनी बेटी तन्नू को वापस अपने घर ले आया। और घटना की तहरीर लेकर नौगॉवां थाने पहुंचा लेकिन पुलिस ने गरीब मजदूर को डाटते हुए वहां से भगा दिया और रिपोर्ट दर्ज नहीं की। उसके बाद पीड़िता के पिता महिला थाने गए वहां पर भी उनकी कोई सुनवाई नहीं हुई।  तीन दिनों तक पुलिस के चक्कर काटने के बाद भी उसकी कहीं कोई सुनवाई नहीं हुई। आज पीड़िता तन्नू ने दम तोड़ दिया।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments