Tuesday, June 25, 2024
No menu items!
Homeइंसानियत के रखवालेयतीम बच्चों के साथ मनाई गई गांधी जयंती, बच्चों के चेहरे पर...

यतीम बच्चों के साथ मनाई गई गांधी जयंती, बच्चों के चेहरे पर दिखी खुशी

ब्यूरो रिपोर्ट- गाज़ियाबाद में ग्रेस ऑरफेंज में गांधी जयंती यतीम बच्चों के साथ हैदरी हैं हम संगठन की टीम ने मनाई.. संगठन का मानना था कि आज ही के दिन बापू की जयंती है.. और बापू ने हर एक इंसान को साथ लेकर देश और इंसानियत के लिए अपनी हर एक सांस नाम कर दी थी.. तो क्यों ना यतीम बच्चों के चेहरे पर मुस्कान लाकर बापू को याद भी किया जाए और साथ ही साथ उन बच्चों को अपने पन का एहसास दिलाया जाए..

मुस्कान इवेंट के ज़रिये से सभी युवाओं ने बच्चों के साथ जयंती मनाई.. साथ ही उन्होंने बच्चों को चॉकलेट, स्टेशनरी का सामान भी दिया.. वहीं बच्चों के साथ क्विज़ प्रतियोगिता रखी गई.. जिसमें जितने वालें बच्चों को भी पुरस्कार दिया गया.. संगठन की पूरी टीम एक एक बच्चे से बात करके उनके ख्वाब को जानने की कोशिश कर रही थी, जिसमें बच्चों ने बेहिजक अपने ख्वाब पूरी टीम को बताए.. बच्चों को बहुत ही अपना पन सा भी लगा, साथ ही उन्हें एक सहारा दिखा कि इस दुनिया में उनका कोई है.. 

एक से बढ़कर एक टेलेंट

ग्रेस ऑरफेंज इंदिरापुरम गाज़ियाबाद में है.. जिसमें तकरीबन 300 से ज्यादा बच्चें रहते हैं.. इन सब बच्चों को अच्छी शिक्षा के साथ साथ खाने पीने समेत हर सुविधा दी जाती है.. वहीं जब मुस्कान इवेंट इन बच्चों के साथ किया गया.. तो सच में इनके चेहरे पर मुस्कार ही आ गई थी.. हर एक में एक से बढ़कर एक टैलेंट था.. किसी की आवाज़ में जादू था.. तो किसी में डांस का टैलेंट.. किसी में पढ़ाई का हूनूर,तो किसी में मेथ का ज्ञान, तो किसी में डॉक्टर बनने की चाह.. जी हां इतने ख्वाब जब आप इन बच्चों की आंखों में देखेंगे तो ज़रुर आपकी आंखे भर आएंगी.. और आप  भी कहेंगे कि इन बच्चों के लिए तो ज़रुर मदद करनी चाहिए..

 

‘हैदरी हैं हम’ संगठन की पहल

महात्मा गांधी ने कहा था कि हज़रत मोहम्मद साहब के नवासे इमाम हुसैन अस जैसे मुझे 72 साथी अगर मिल जाते तो हमारा हिंदुस्तान कबका आज़ाद हो जाता.. वहीं हैदरी हैं हम संगठन ने इमाम हुसैन अस के रास्ते को अपनाते हुए ही चलती है.. जिसमें इंसानियत का रास्ता, हक़ का रास्ता, मज़लूम की मदद करना, यतीम बेसहारा लोगों का हमेशा साथ देना आदि शामिल है.. इसी को देखते हुए हैदरी हैं हम संगठन इसी तरह से हर मज़लूम की मदद करता है.. वहीं इस संगठन में मौलाना मिर्ज़ा इमरान अली, अलताफ अब्बास, इकराम अब्बास, समाना फातमा, रबाब रिज़वी, इक़रा फातिमा, अरीज़ा, समरीन, ज़हीर, समन, हुमा, नाज़िया, हैदर, मुजतबा, अकबर समेत कई युवा इस टीम का हिस्सा है..जो फाइनेंसिली मदद के साथ साथ हर मदद इन बच्चों आदि की करते हैं.. 

वहीं इसी तरह से अगर हर इंसान यतीम बच्चों के लिए मदद करने लगे तो कोई भी यतीम अपने आपको यतीम नहीं समझेगा.. और हमारे देश में वो यतीम बच्चे भविष्य में देश का नाम उंचा करेंगे..

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments