Tuesday, July 16, 2024
No menu items!
Homeविचारहज सब्सिडी के नाम पर मुसलमानों के साथ हो रहा था धोखा-...

हज सब्सिडी के नाम पर मुसलमानों के साथ हो रहा था धोखा- मौलाना वली रहमानी

लखनऊ: आॅल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने हज यात्रियों को दी जाने वाली सरकारी सब्सिडी को ख़त्म किए जाने पर मंगलवार को कहा कि अब तक अनुदान के नाम पर मुसलमानों के साथ धोखा किया जा रहा था और इस निर्णय का कोई मतलब नहीं है.

बोर्ड के महासचिव मौलाना वली रहमानी ने हज सब्सिडी को ख़त्म किए जाने के बारे में पूछने पर बताया कि सरकार दरअसल, हज यात्रियों को नहीं बल्कि घाटे में चल रही एयर इंडिया की मदद के लिए सब्सिडी दे रही थी. यह एक छलावा था. सब्सिडी के नाम पर मुसलमानों के साथ सिर्फ़ धोखा किया जा रहा था.

उन्होंने कहा कि हज सब्सिडी बुनियादी तौर पर एयर इंडिया के लिए हुआ करती थी, हाजियों के लिए नहीं. आम दिनों में सऊदी अरब आने-जाने का टिकट 32 हज़ार रुपये में मिलता है जबकि एयर इंडिया हज के वक़्त किराये में बेतहाशा बढ़ोतरी करते हुए हाजियों से 65 हज़ार से लेकर एक लाख रुपये तक वसूलती है. अगर बगैर किसी सब्सिडी के हाजियों से किराया लिया जाए तो वह कम होगा.

रहमानी ने कहा कि जब हज यात्री विमान के टिकट के थोक ख़रीदार हैं, तो उनका किराया सस्ता होना चाहिए, ना कि महंगा. इंटरनेशनल एयर ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन का नियम है कि अगर कोई किसी तीर्थस्थल पर जा रहा है तो उसे किराये में 40 प्रतिशत की छूट मिलेगी. अगर किराया सस्ता ना हो तो उतना तो होना ही चाहिए जितना सामान्य दिनों में होता है.

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments