Tuesday, June 25, 2024
No menu items!
Homeविदेशकच्चे तेल का अंतरराष्ट्रीय बाजार गहरे संकट में, गिरकर 0.01 डॉलर प्रति...

कच्चे तेल का अंतरराष्ट्रीय बाजार गहरे संकट में, गिरकर 0.01 डॉलर प्रति बैरल पहुंचा: WTI

नई दिल्ली(प्रिया सेठ) : वैश्विक स्तर पर जारी कोरोना संकट के बीच अमेरिकी कच्चे तेल की कीमत में ऐतिहासिक गिरावट हुई है.

मांग नहीं  होने की वजह से कीमतें 0.01 डॉलर प्रति बैरल के नीचे पहुंच गई है. बता दें कि दुनिया के 185 से अधिक देश कोरोनावायरस की चपेट में हैं. बता दें कि कोरोनावायरस संकट की वजह से दुनियाभर में घटी तेल की मांग के चलते इसकी कीमतें लगातार गिर रही हैं. इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ है जब कच्चे तेल की कीमत इतना नीचे पहुंची है.

अंतरराष्ट्रीय बजार में अमेरिकी वेस्ट टेक्सास इंटरमीडिएट कच्चा तेल का भाव सोमवार को गिर कर सोमवार को दो डॉलर प्रति बैरल के न्यूनतम स्तर पर आ गया. इससे पहले दिन में बाजार खुलने पर भाव यह 10.34 डॉलर प्रति बैरल पर आ गया था जो 1986 के बाद इसका सबसे निचला स्तर था.

व्यापारियों ने कहा कि कीमत में यह गिरावट चिंताजनक है क्योंकि मई डिलीवरी के अनुबंधों का निस्तारण सोमवार शाम तक कर दिया जाना है लेकिन कोई निवेशक तेल की वास्तविक डिलिवरी लेना नहीं चाह रहा है.

 

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments