Friday, June 14, 2024
No menu items!
Homeविदेशईरान ने कहा संसार से सभी परमाणु हथियारों की समाप्ति की जाये...

ईरान ने कहा संसार से सभी परमाणु हथियारों की समाप्ति की जाये V.o.H News

विदेश मंत्रालय में राजनैतिक व अंतर्राष्ट्रीय सुरक्षा संबंधी मामलों के महानिदेशक ग़ुलाम हुसैन दहक़ानी ने वियना में परमाणु निरस्त्रीकरण संधि की पुनर्समीक्षा की आरंभिक समीति की पहली बैठक में कहा है कि परमाणु हथियार संपन्न देश, एनपीटी के अंतर्गत, सभी परमाणु हथियारों को नष्ट करने की अपनी प्रतिबद्धता की अनदेखी नहीं कर सकते।

 

 

इस चुनौती के दृष्टिगत दो हफ़्ते तक जारी रहने वाली इस बैठक का मुख्य मुद्दा एनपीटी के प्रगति न करने और 1995 के परमाणु हथियार रहित मध्यपूर्व के समझौते के लागू न होने के कारणों और इसी तरह शांतिपूर्ण उद्देश्यों के लिए परमाणु ऊर्जा के इस्तेमाल के संबंध में अंतर्राष्ट्रीय सहयोग की स्थिति की समीक्षा करना है। एनपीटी के सदस्य देश हर पांच साल में एक बार इस समझौते के क्रियान्वयन की स्थिति की समीक्षा के लिए एकत्रित होते हैं। हर काॅन्फ़्रेंस से पहले आरंभिक समितियों की बैठक होती है। परमाणु निरस्त्रीकरण संधि एनपीटी पर वर्ष 1970 से क्रियान्वयन शुरू हुआ था और 1995 में कोई समय सीमा तैय किए बिना इसकी समय अवधि बढ़ा दी गई थी। एनपीटी का उद्देश्य सिर्फ़ यह नहीं था कि ग़ैर परमाणु देशों को परमाणु हथिायर प्राप्त करने से रोक दिया जाए बल्कि परमाणु संपन्न देशों का परमाणु निरस्त्रीकरण भी इसके मुख्य उद्देश्यों में से था बल्कि इसे ही इस संधि का अधिक बड़ा लक्ष्य समझा जा सकता है।

 

 

 

वियना बैठक एेसी स्थिति में आयोजित हो रही है कि जब संसार में हज़ारों परमाणु हथियारों ने धरती की सुरक्षा को ख़तरे में डाल रखा है। परमाणु हथियार संपन्न देश इन हथियारों के नवीनीकरण पर अरबों  डाॅलर ख़र्च कर रहे हैं। इस संबंध में ज़ायोनी शासन, मध्यपूर्व की एकमात्र परमाणु संपन्न सरकार के रूप में पूरे क्षेत्र के लिए ख़तरा बनी हुई है। यही कारण है कि ईरानी विदेश मंत्रालय में राजनैतिक व अंतर्राष्ट्रीय सुरक्षा संबंधी मामलों के महानिदेशक ग़ुलाम हुसैन दहक़ानी ने वियना बैठक में बिना शर्त एनपीटी से जुड़ने और अपनी सभी परमाणु गतिविधियों को आईएईए के निगरानी में देने के लिए ज़ायोनी शासन पर विश्व समुदाय की ओर से दबाव डाले जाने की मांग की है। (HN)

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments