Saturday, April 13, 2024
No menu items!
Homeविचारसमय से पर्चियां ना मिलने और बाहरी क्षेत्रों का गन्ना लेने पर...

समय से पर्चियां ना मिलने और बाहरी क्षेत्रों का गन्ना लेने पर आक्रोशित हुए किसान

*गन्ने की पेराई चेन रोककर जमकर किया हंगामा, पुलिस और मिल अधिकारियों से नोकझोंक
*पुलिस और मिल के अधिकारियों से किसानों ने शुरू की वार्ता, मिला समाधान का आश्वासन

V.o.H News: हापुड़(नदीम नकवी) – ब्रजनाथपुर शुगर मिल के अधिकारियों पर बाहरी जिलों का गन्ना लेकर उन्हें तय समय पर पेमेंट करने और क्षेत्रीय किसानों की अनदेखी करने पर शनिवार को दर्जनों गांवों के सैकड़ों किसानों का गुस्सा फूट पड़ा। किसानों ने शुगर मिल के शीशों को तोड़ दिया और वहां मौजूद कर्मचारियों के साथ मारपीट की। इसके अलावा किसानों ने गन्ने की पेराई करने वाली चेन पर लेटकर उसे रोक दिया। मिल में हंगामा और तोड़फोड़ की सूचना मिलने पर हाफिजपुर पुलिस मौके पर पहुंची और किसानों को समझाने का प्रयास किया। काफी जद्दोजहद के बाद किसान माने। किसानों ने समस्या हल नहीं होने पर उग्र आंदोलन की चेतावनी दी है।

शनिवार को गांव बड़ौदा सिहानी, भटियाना, ब्रजनाथपुर, हरसिंहपुर, फगौता, नान, बझैड़ा, मिलक, सपनावत, डहाना, छज्जूपुर, चचोई, मतनावली, सिरोधन भूरिया, सालेपुर कोटला, नरैना, मोरपुर, हाफिजपुर सहित दर्जनों गांवों के सैकड़ों किसान अपने गन्ने की ट्रैक्टर-ट्रॉली, बुग्गी लेकर ब्रजनाथपुर शुगर मिल में पहुंचे। जहा पर पहले से ही ट्रकों की लंबी-लंबी कतार लगी हुई थी। किसानों ने ट्रक में लदे गन्ने के बारे में जानकारी की तो पता लगा कि वह बाहरी जिलों का गन्ना है। इस बात पर किसानों में आक्रोश पनप गया।
किसानों ने अधिकारियों से वार्ता करने की कोशिश की, लेकिन कुछ किसानों ने आफिस और गन्ने की पेराई के पास बने एक अन्य आफिस के बाहर लगे शीशों में तोड़फोड़ शुरू कर दी। इससे मौके पर अफरा-तफरी का माहौल बन गया। इसी दौरान विभिन्न गांवों के कई किसान गन्ने की पेराई करने वाली चेन में लेट गए। इस पर अधिकारियों ने चेन को बंद कर दिया। इसके बाद किसानों ने प्रदर्शन और हंगामा कर दिया।
किसानों ने बताया कि मिल अधिकारी दूसरे सेंटरों का गन्ना खरीद रहे हैं। इसके अलावा विभिन्न गांवों के 92 किसानों का ओवरलोड बताकर उन्हें पर्चियां नहीं दी जा रही। किसानों का आरोप है कि मिल अधिकारी बाहरी राज्यों का गन्ना लेकर 100 रुपये प्रति कुंतल गन्ना कमा रहे हैं। साथ ही उनका नकद भुगतान भी कर रहे हैं। गेट पर ट्रैक्टर-ट्रॉली और बुग्गी लेकर खड़े किसानों को वापस लौटाया जा रहा है। इस प्रकार मिल अधिकारियों की लापरवाही किसी भी हाल में बर्दाश्त नहीं की जाएगी।
किसानों के हंगामा, तोड़फोड़ की सूचना मिलने पर पुलिस विभाग में हड़कंप मच गया। आनन फानन में यूपी-100 की दो गाड़ियां लेकर एसओ हाफिजपुर रवि रतन मौके पर पहुंच गए। पुलिस ने किसानों से वार्ता करते हुए उन्हें समझाने का प्रयास किया, किसानों ने आरोप लगाया कि जब तक किसानों की समस्या हल नहीं होगी, तब तक चेन शुरू नहीं की जाएगी। इस पर पुलिस ने मिल अधिकारियों को मौके पर बुलवा लिया और वार्ता शुरू हुई

ब्रजनाथपुर शुगर मिल के केन मैनेजर राजीव तोमर ने बताया कि पिछले साल मिल को 35 लाख कुंतल का बेसिक कोटा मिला था। जबकि इस बार यह बढ़कर 60 लाख पहुंच गया है। किसानों को इससे फायदा होगा, क्योंकि अभी मिल ढाई महीने और चलेगा। ऐसे में किसानों को हंगामा करने के बजाय अधिकारियों से वार्ता करनी चाहिए थी। मिल बाहरी क्षेत्रों का भी गन्ना खरीद सकता है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments