Thursday, April 25, 2024
No menu items!
Homeदेशसीआईएसएफ के शहीदों को 74 वें स्वतंत्रता दिवस-2020 के अवसर पर शौर्य...

सीआईएसएफ के शहीदों को 74 वें स्वतंत्रता दिवस-2020 के अवसर पर शौर्य चक्र से किया गया सम्मानित

नई दिल्ली, 15 अगस्त, 2020  के आयोजन में सीआईएसएफ के शहीदों को 74 वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर भीषण अग्नि घटनाओं के दौरान कर्तव्यनिष्ठ वीरता, साहस और कर्तव्य के प्रति समर्पण व बलिदान के लिए शौर्य चक्र से सम्मानित किया गया।

सीजीओ कॉम्प्लेक्स, नई दिल्ली में आग की घटना

 महावीर प्रसाद गोदारा  की नियुक्ति सीआईएसएफ में उप-निरीक्षक (कार्यकारी) के पद पर 01.03.2008 को हुई थी और वे वर्ष 2016 में सीआईएसएफ इकाई सीजीबीएस नई दिल्ली में सेवारत थे।

 06.03.2019 को समय 5 बजे से 1 बजे तक महावीर प्रसाद गोदारा, सीजीओ कॉम्प्लेक्स, नई दिल्ली में शिफ्ट प्रभारी के रूप में तैनात थे। अचानक, लगभग 8:30 बजे, पं0 दीन दयाल अंत्योदय भवन, सीजीओ कॉम्प्लेक्स की 5 वीं मंजिल पर आग लगने की घटना की सूचना मिली, जहां सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय का कार्यालय स्थित है। आग के संबंध में जानकारी मिलने पर, वह बचाव कार्य के लिए तत्क्षण घटनास्थल पर पहुंचे। जब वह घटनास्थल पर क्विक रिएक्शन टीम के साथ फंसे कर्मियों को निकाल रहे थे, अचानक एक दीवार ढहने पर वहां घना धुआं निकलने लगा, जिसको देख टीम के अन्य सदस्य पीछे हट गए, परन्तु महावीर प्रसाद गोदारा मौके से बिना पीछे हटे संभावित बचे लोगों की तलाश में जुटे रहे, और घने धुएं की चपेट में आ गए। उन्हें तुरंत एम्स अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

ओएनजीसी मुंबई, उरण संयंत्र में आग की बड़ी घटना

सीआईएसएफ में  एरना नायक की नियुक्ति दिनांक 25.03.1996 को कांस्टेबल/फायर के पद पर हुई थी और उनकी पदोन्नति दिनांक 11.01.2017 को हेड कांस्टेबल/फायर के पद पर हुई थी। वह सीआईएसएफ इकाई ओएनजीसी मुंबई में तैनात थे।

 सीआईएसएफ में महेंद्र कुमार पासवान की नियुक्ति दिनांक को 27.09.2014 को कांस्टेबल/डीसीपीओ के पद पर हुई थी और वह सीआईएसएफ इकाई ओएनजीसी मुंबई में तैनात थे।

 

सीआईएसएफ में सतीश प्रसाद कुशवाहा की नियुक्ति दिनांक को 07.11.2016 को कांस्टेबल/फायर के पद पर हुई थी और वह सीआईएसएफ इकाई ओएनजीसी मुंबई में तैनात थे। 

03.09.2019 को लगभग 6:35 बजे, ओएनजीसी मुंबई, उरण प्लांट के एलपीजी गेट ड्यूटी पोस्ट पर तैनात सीआईएसएफ बल सदस्यों को गैस की गंध महसूस हुई और उसे सांस लेने में भी परेशानी होने लगी। उन्होंने तुरंत इस संबंध में मेन गेट कंट्रोल रूम को सूचित किया। संयंत्र में गैस के रिसाव के संबंध में मेन गेट कंट्रोल रूम से फोन आने पर, लगभग 6:47 बजे, सीआईएसएफ फायर विंग के जवान तुरंत एसटीएफ के साथ घटनास्थल पर पहुंचे। हैड कांस्टेबल (फायर) एरना नायक, कांस्टेबल (डीसीपीओ) महेंद्र कुमार पासवान और कांस्टेबल (फायर) सतीश प्रसाद कुशवाहा प्लांट के अंदर गए और गैस रिसाव के स्रोत की खोज शुरू की। अचानक घटना स्थल पर धमाका हुआ और  एरना नायक,  महेंद्र कुमार पासवान और सतीश प्रसाद कुशवाहा जो अग्निशमन कार्य निष्पादन में लगे हुए थे, आग की चपेट में आ गए और शहीद हो गए।

 

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments