Saturday, May 25, 2024
No menu items!
Homeउत्तर प्रदेशनौगावां सादात का वीरान पड़ा सरकारी अस्पताल बनेगा अधिकारीयों का आशियाना ।

नौगावां सादात का वीरान पड़ा सरकारी अस्पताल बनेगा अधिकारीयों का आशियाना ।

नौगावा सादात(शहजाद आब्दी): सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जनता को फायदा पहुंचाने के लिए पिछले दिनों आदेश दिया था कि प्रदेश के सभी अधिकारी अपने तैनाती स्थल पर ही निवास करेंगे। अगर आदेश का पालन नहीं हुआ तो उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

मुख्यमंत्री के आदेश की सूचना मिलते ही पुरे प्रदेश के अधिकारीयों में हडकंप मच गया प्रदेश भर के अधिकारीयों ने आदेश का संज्ञान लेकर तुरंत अपने तैनाती स्थल पर निवास करना शुरू कर दिया था। इसी क्रम में तहसील नौगावां सादात पर तैनात उपजिलाधिकारी राकेश कुमार गुप्ता व तहसीलदार सदानंद सरोज ने भी निवास करने की कोई व्यवस्था ना होने के बाद भी तहसील परिसर में बने एक कमरे में निवास करना चालू कर दिया था। निवास स्थान की सही व्यवस्था ना होने के कारण अधिकारियों को कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है। तहसील परिसर में पानी की टंकी पर मधुमक्खियों के छत्ते होने के कारण रात को मखिय्याँ कमरे में आ जाती हैं तथा कई बार अधिकारीयों के काट भी लेती हैं। व्यवस्था ना होने से मुख्यमंत्री योगी का फरमान तहसील नौगावां सादात के अधिकारीयों के गले की फांस बन गया है। अब अधिकारीयों ने अपने निवास स्थान की तलाश शुरू कर दी है। बताया जा रहा है की आगामी पांच जनवरी से अधिकारी अब नौगावां सादात में करोडो की लागत से बने  वीरान पड़े सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र  को अपना आशियाना बनायेंगे। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के वीरान पड़े आवासों में अब उपजिलाधिकारी व तहसीलदार नौगावां सादात अपने स्टाफ के साथ रहेंगे। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के आवासों पर रंगाई पुताई का काम ज़ोर शोर से चल रहा है तथा साफ़ सफाई की जा रही है। हालाँकि करोडो की लागत से बने  सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के आवासों की यह बदनसीबी ही है कि मुख्यमंत्री योगी के आदेश के बाद भी यहाँ पर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में तैनात स्टाफ ने निवास करना शुरू नहीं किया है बल्कि औपचारिकता पूरी करने के लिए आवासों के दरवाज़े पर अपने नाम लिखा दिए हैं।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments