Tuesday, July 16, 2024
No menu items!
Homeदेशयूपी सरकार को देनी चाहिए ताज़िया उठाने की इजाज़त, वरना अज़ादारों को...

यूपी सरकार को देनी चाहिए ताज़िया उठाने की इजाज़त, वरना अज़ादारों को रोकना होगा मुश्किल – मौलाना यासूब अब्बास

लखनऊ: यूपी सरकार ने कोरोना की वजह से मोहर्रम की अज़ादारी पर प्रतिबंध लगा दिया है, इसी कड़ी में आल इंडिया शिया पर्सनल लॉ बोर्ड के प्रवक्ता मौलाना यासूब अब्बास ने भी यूपी के मुख्य सचिव से ताज़िया निकालने की बात की है, उन्होंने कहा कि ताज़िया 21 साल जब इतनी बंदिशें थी तब भी निकला है, वहीं ये ताज़िया सिर्फ शिया ही नहीं, सुन्नी, हिन्दू समेत लाखों लोग निकालते हैं, अगर इसे निकालने की इजाज़त नहीं दी जाएगी तो लोग नही रुक पाएंगे, और मख़सूस मजलिसों की भी इजाज़त दी जाए।

एक बार फिर से गाइड लाइन जारी हो जिसमें इन सब बातों का ख्याल रखा जाए। वही इस सिलसिले में voh news ने मौलाना यासूब अब्बास से खास बात चीत की ।

  सवाल : आपने मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी से बात की, क्या रिक्वेस्ट की आपने उन्हें, और उनका कोई अभी तक रिप्लाई ?

जवाब: इस सिलसिले में अभी तक कोई जवाब नही आया है, जुलूस ताज़िये पर पाबंदी है, हुकूमत से उनका कहना है कि ,ताज़िये की इजाज़त दी जाए, आगे उन्होंने कहा हमारे घरों में शादी का मौक़ा हो या मृत्यु का, हर मौके पर हम इमाम हुसैन अ. स. को याद करते है ,यहां तक कि हमारी ज़िंदगी इमाम से मुनसलिक है, लिहाज़ा सरकार हमे ताज़िया उठाने की इजाज़त दे,उन्होंने  ये  भी कहा कि  अगर जुलूसों पर पाबंदी है तो ताज़िया हर एक इंसान ख़ुद उठाता है लिहाज़ा इससे कोई मसला नही है ताज़िया उठाने की इजाज़त दी जाए, हालांकि अभी सरकार की तरफ से कोई ऐडवाइजरी या गाइडलाइंस नही आई है 

सवाल: वहीं सुप्रीम कोर्ट के सीनियर वकील महमूद प्राचा का कहना है कि जब सुप्रीम कोर्ट ने जगन्नाथ रथ यात्रा के लिए 500 लोगों को इजाज़त दे रखी है, तो उसी तरह ताज़िये के लिए कैसे सरकार मना कर सकती है जबकी कोर्ट का आदेश है

 जवाब: इस बारे में मौलाना यासूब ने कहा कि उन्हें इस सिलसिले में कोई जानकारी नही है।

 सवाल :क्या आप भी मजलिसें पढ़ने बाहर जा रहे हैं ,ज़्यादातर आप मुम्बई में अशरा पढ़ते हैं, तो आप क्या वहां जा रहे हैं या ऑनलाइन मजलिस पढ़ेंगे.

 जवाब : जी हां , इस बार मजलिस पढ़ने के लिए  मुम्बई जाएंगे.

 सवाल :  क्या अजादारों को पैग़ाम देना चाहेंगे इस मुश्किल घड़ी में।

 जवाब:  अज़ादारों से मौलाना  ने अपील की है कि, जिस तरीके से हमारे उलमा ,मर्जा ( सिस्तानी साहब ) कह रहे है वैसे ही एहतियात बरतते हुए मोहर्रम को मनाया जाए, अज़ाखानो को ज़रूर सजाए ,ताज़िया अज़ाखानो में ज़रूर रखे

 सवाल: लखनऊ में ताज़िया निकलने के सिलसिले में एक मैसेज  फॉरवर्ड हो रहा जिसमे लिखा है कि 10 मोहर्रम की ताज़िया उठायी जा सकती है,बाकी सारे जुलूस बंद होंगे ,ऐसा लखनऊ प्रशासन का फ़ैसला है।

 जवाब : ऐसी कोई भी परमिशन नही मिली है, अभी तक मोहर्रम के किसी जुलूस, ताज़िया के लिए कोई इजाज़त नही मिली है।

 

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments