Thursday, April 25, 2024
No menu items!
Homeइंसानियत के रखवालेनौगावां सादात के हिन्दुओ ने की एकता की मिसाल पेश, हर कोई...

नौगावां सादात के हिन्दुओ ने की एकता की मिसाल पेश, हर कोई कर रहा है वाह-वाह

रिपोर्ट: शहजाद आब्दी:  – यहाँ क्लिक कर हमारा फेसबुक पेज लाइक करें  11/9/2017 नौगावां सादात /अमरोहा – प्रदेश के कई हिस्से जहां सांप्रदायिक संघर्ष की आंच में झुलस रहे हैं वहीं एक शहर के लोगो ने  हिंदू-मुसलमानों के बीच  प्रेम और भाईचारे की ऐसी मिसाल पेश की कि  हर शख्स वाह-वाह कर रहा है। हम बात कर रहे है उत्तर प्रदेश  के जिला अमरोहा के तहसील नौगावां सादात की

 

 

क्या है मामला :-

यहां हर साल  10 दिनों तक राम लीला होती है और दशहरे वाले दिन रावण का पुतला दहन कर राम लीला समाप्त की जाती है। इस बार इसी दौरान मुहर्रम पड़ जाने से पुलिस के सामने सुरक्षा को लेकर कई सवाल खड़े हो गए थे शासन व प्रशासन के सामने सुरक्षा व्यस्था को लेकर बड़ा सवाल था, देश के कई हिस्सों में बवाल के कारण शहरवासी शंकित थे। 

रामलीला कमेटी के लोगों ने काफी मंथन के बाद भाईचारे की नई मिसाल कायम करने के लिए  दरयादिली दिखाते हुए एक खूबसूरत फैसला लिया तय हुआ कि इस बार रामलीला की शुरूआत  10 सितम्बर से की जाएगी और मुहर्रम से पहले ही ख़त्म कर दी जाएगी ताकि मुस्लिम भाइयो को किसी परेशानी का सामना ना करना पड़े. इस पहल से एक बार तो पुलिस वाले हक्का-बक्का रह गए, लेकिन जब दोनों पक्षों ने सहमति जताई तो पुलिस ने भी हामी भर दी।

रामलीला कमेटी के इस फैसले पर तहसीलदार नौगावां सादात व उपजिलाधिकारी नौगावां सादात ने भी कमेटी के फैसले पर ख़ुशी का इज़हार किया और शांति एवं सद्भाव के लिए एक अच्छी पहल बताया कहा इससे इंसानियत की मिसाल कायम होगी और आपसी एकता बढ़ेगी.

रामलीला कमेटी के सदस्य श्री सुदेश कुमार ने बताया की हमलोग इस तरह के फैसले पहले भी कई बार ले चुके हैं और मुस्लिम भाई भी हमारे साथ कांधे से कान्धा मिलाकर चलते है और रामलीला के चंदे से लेकर मंच सजाने और कलाकार लाने तक की पूरी व्यवस्था मुस्लिम भाई करते हैं.

 

 

 

 

 

उधर अमरोहा में भी राम बारात और मोहर्रम के जुलूस को लेकर बैठक की गयी 

अमरोहा के कोतवाली परिसर में श्रीधार्मिक रामलीला कमेटी व अंजुमन तहफ्फुज ए अजादारी व अंजुमन रजाकार ए हुसैनी के पदाधिकारियों की बैठक की गई। बैठक में निर्णय लिया गया कि राम बारात का जुलूस जो शाम को पांच बजे निकाला जाना था उसे छह बजे निकाला जाए। एक घंटा देरी से यह कोट के चौराहे पर पहुंचेगा।

उधर इससे पहले ही मोहर्रम का जुलूस जो कोट चौराहा से दानिशमंदान व सब्जी मंडी से बंगला मोहल्ले में पहुंचा दिया जाएगा। जिससे मोहर्रम के जुलूस व राम बारात के जुलूस आमने सामने नहीं आएंगे और टकराव की स्थिति सामने नहीं आएगी। इस मौके पर अजय अग्रवाल विशाल गोयल कुंवर विनीत अग्रवाल खुर्शीद

 

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments