Thursday, April 25, 2024
No menu items!
Homeदेशदंगा आरोपी की गिरफ़्तारी ना होने पर,  तेजस्वी बोले ‘बीजेपी मंत्री का...

दंगा आरोपी की गिरफ़्तारी ना होने पर,  तेजस्वी बोले ‘बीजेपी मंत्री का बेटा है इसलिये नीतीश गिरफ्तारी कराने से कांप रहे’

V.o.H News: पटना – केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे के दंगा आरोपित पुत्र की गिरफ्तारी को लेकर बिहार की सियासत एक बार फिर गरमा गई है। बिहार के नेता विपक्ष तेजस्वी यादव लगातार मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हमलावर हो रहे हैं, और उन पर तंज कर रहे हैं। उन्होंने नीतीश कुमार पर निशाना साधते हुए कहा कि अश्विनी चौबे के दंगा आरोपी पुत्र ने नीतीश कुमार की क़ानून व्यवस्था को एकदम नंगा कर दिया है।

तेजस्वी ने कहा कि एक तरफ़ नीतीश सरकार उसके ख़िलाफ वारंट निकलवा रही है दूसरी तरफ वह पटना में खुलेआम तलवार हाथों में लिए घूम रहा है और नीतीश के क़ानून के राज को ज़ोरदार लात मार रहा है। तेजस्वी ने नीतीश कुमार पर हमला बोलेत हुए कहा कि बिहार के ढोंगी व पाखण्डी मुख्यमंत्री ने केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे के दंगाई सुपुत्र पर दिखावटी ‘अरेस्ट वारंट’ निकाल रखा है लेकिन वह पटना में CM आवास के बग़ल में ही BJP विधायकों की मौजूदगी में तलवार थामे Facebook Live कर रहा था।

तेजस्वी ने सवाल उठाते हुए कहा कि नीतीश सरकार कितनी दोगली है ? जी हां, दोगली! चौबे जी का बेटा है इसलिए उसे गिरफ़्तार करने में नीतीश कुमार कांप रहे है। अगर किसी अतिपिछड़ा, महादलित, अकलियत का बेटा होता तो नीतीश जी अबतक क़ानून के राज का नमूना दिखा देते। नीतीश कुमार अपराधी की जाति और धर्म देखकर कारवाई करते है। हिम्मत है तो मेरी बात का खंडन करें मैं ज़ोरदार जवाब दुंगा।

तेजस्वी ने कहा कि अगर नीतीश कुमार केंद्रीय मंत्री चौबे जी के दंगा आरोपी बेटे को गिरफ़्तार नहीं करवा सकते तो हमें पुलिस प्रशासन के साथ छूट दें। हम चौबे जी के बेटे को पकड़कर नीतीश जी के हवाले कर देंगे। बोलिए चाचा! डरपोक मत बनिये। गौरतलब है कि केन्द्रीय मंत्री अश्विनी चौबे के पुत्र पर भागलपुर में दंगा भड़काने का आरोप है, जिसके खिलाफ गिरफ्तारी वारंट भी जारी हो चुका है।

गौरतलब है कि बिहार के भागलपुर में एक जुलूस को लेकर दो समुदायों के बीच हुई हिंसक झड़प के मामले में केन्द्रीय मंत्री अश्विनी चौबे का पुत्र आरोपी है। मंत्री पुत्र अरिजीत शाश्वत ने पुलिस के सामने सरेंडर करने से साफ इनकार किया है। अरिजीत ने कहा, “मैं न्यायालय की शरण में हूं।” हिंसक झड़प के मामले में अरिजीत शाश्वत के खिलाफ वॉरंट जारी किया गया था, जिसके बाद विपक्षी नेता उन पर सरेंडर करने का दबाव बना रहे थे।

 

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments