Tuesday, July 16, 2024
No menu items!
Homeविचारउड़न तश्तरी की हकीकत, क्या सही क्या झूठ, अधिक जानकारी के लिए...

उड़न तश्तरी की हकीकत, क्या सही क्या झूठ, अधिक जानकारी के लिए पढ़िए…V.o.H News

2 जुलाई , 1947 की अंधेरी रात में रोजवैल (न्यू मैक्सिको , अमरीका) के आकाश में  एक अद्भुत चमकीला यान ( उड़न- तश्तरी )  दिखाई दिया ! इसके ठीक बाद एक जोरदार  धमाका सुनाई दिया औप वह पश्चिम दिशा की तरफ उड़ता दिखाई दिया !  

 

 

अगली सुबह एक मवेशी पालक को उस यान के उड़न पथ के नीचे मलबे के रूप में कुछ अवशेष मिले ! बिखरे हुए इस मलबे के ढेर में मुख्य रूप से धातु के पतले मगर कठोर टुकड़े बिखरे पड़े थे !  मलबे में पड़े वे टुकड़े अपने आप में बड़े ही अजीब थे ! मवेशी पालक उन्हे सुगमता से मोड़ को रहा था , परंतु उन्हें तोड़ना आसान नहीं था !  इस मलबे के ढेर से पश्चिम की तरफ कई मील दूर इससे भी ज्यादा कुछ अद्भुत चीज पाई गई !  कथित इलाके में काम कर रहे एर सिविल इंजीनियर ने एक बड़ी ही आश्चर्यजनक और रोचक वस्तु देखी ! यह धातु की बनी हुई गोलाकार वस्तु थी और इसकी चौड़ाई करीब 10 मीटर थी !  जमीन पर गिरी इस डिस्क के चारों तरफ कई लाशें पड़ी थीं ! लाशें देखने में इंसानों के समान थीं , परंतु उनके सिर आश्चर्यजनक रूप से बड़े थे और पूर्णतः बाल विहीन थे !  

 

अभी वह इंजीनियर यह अद्भुत नजारा देख ही रहा था कि मौके पर सेना पहुंच गई !  सेना ने वहां बिखरा सारा मलबा समेटा और तुरंत वहां से रवाना हो गई ! शीघ्र ही सेना के विशेषज्ञों ने उस मलबें के बारे में अपनी राय दी ! उनके अनुसार वह मलबा एक मौसम संबंधी जांच के गुब्बारे का था ,जो कि नियंत्रण से बाहर होकर दुर्घटनाग्रस्त हो गया था , परंतु सेना द्वारा दुिया गया यह तर्क अविश्वसनीय होने के साथ-ही-साथ हास्यापद भी था ,  इसलिए लोगों ने इसे मानने से इंकार कर दिया !  लोग मानते है कि दुर्घटनाग्रस्त उड़न-तश्तरी अभी भी सरकार के कब्जे में है और वह इस बारे में कुछ भी जाहिर नहीं करना चाहती ! 

फेसबूक से जुड़े – क्लिक करकें.-

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments