Thursday, April 25, 2024
No menu items!
Homeदेशऑनलाइन स्टडीज़ के दौरान बच्चों की सेफ्टी सबसे पहले इसका रखे ख़ास...

ऑनलाइन स्टडीज़ के दौरान बच्चों की सेफ्टी सबसे पहले इसका रखे ख़ास ख़्याल: NCPCR

यहाँ क्लिक कर हमारा फेसबुक पेज लाइक करें

  प्रिया सेठ(दिल्ली):   नेशनल कमीशन फॉर प्रोटेक्शन ऑफ चाइल्ड राइट्स (एनसीपीसीआर) ने सभी राज्यों को एडवाइज़री इश्यू करते हुए बच्चों के ख़ास ध्यान रखने बात कही हैं,

जिसमें उनसे आग्रह किया गया है कि लॉकडाउन की वजह से हो रही ऑनलाइन क्लासेस के दौरान बच्चों की सुरक्षा की जिम्मेदारी एजुकेशनल इंस्टीट्यूट अथवा स्कूल की होगी। एनसीपीसीआर ने सभी राज्यों के सभी स्कूलों के एजुकेशनल डिपार्टमेंट्स को निर्देश दिये हैं कि ऑनलाइन क्लासेस के दौरान चाइल्ड सेफ्टी सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण हिस्सा होना चाहिए। इस बात का ध्यान रखा जाये कि उनके साथ किसी प्रकार का एब्यूज़, हैरसमेंट अथवा वॉयलेशन न होने पाये।

 

इन बातों का रखें ध्यान –

ऑनलाइन क्लासेस कंडक्ट कराते समय इंस्टीट्यूट इस बात का ध्यान रखें कि बच्चों के नाम से लॉगिन आईडी न बनाई जाए। वर्चुअल क्लास या टीर्चस से इंटरेक्शन होते समय शिक्षक इस बात का ध्यान रखें कि बच्चे गेस्ट के तौर पर ही लॉगिन करें और इस वर्चुअल क्सालरूम का पूरा कंट्रोल टीचर के हाथ में रहे ताकि स्टूडेंट्स को किसी भी प्रकार की साइबर बुलिंग या एब्यूज में फंसने से बचाया जा सके.

यही नहीं एनसीपीसीआर ने यह चेतावनी भी दी कि अगर कोई भी शैक्षणिक संस्था बच्चों की सुरक्षा को गंभीरता से नहीं लेती है या उसके साथ खिलवाड़ करती है तो उसके खिलाफ जुविनियल जस्टिस एक्ट के अंतर्गत कानूनी कार्यवाही की जाएगी।

 

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments