Saturday, May 25, 2024
No menu items!
Homeउत्तर प्रदेशयूपी: भाजपा नेता की गाड़ी से हो रही थी गौमांस की तस्करी,...

यूपी: भाजपा नेता की गाड़ी से हो रही थी गौमांस की तस्करी, कार सहित दो दबोचे

यहाँ क्लिक करके हमारा फेसबुक पेज लाइक करें

जालौन। चुनावों में जीत के लिए भाजपा ने गाय का मुद्दा जोर शोर से उठाया था। गाय को लेकर भाजपा ने लोगों को इतना भड़काया कि देशभर में हत्यारी भीड़ तैयार हो गई। जगह जगह से मॉब लिंचिंग की घटनाएँ सामने आने लगीं। लेकिन अब भाजपा नेता का खुद गौतस्करी में नाम सामने आया है। इतना ही नहीं गौमांस से लदी भाजपा नेता की स्कॉर्पियो पुलिस ने बरामद की है।

 

कौंच कोतवाली पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर प्रतिबंधित गौमांस लादते दो लोगों को गिरफ्तार किया लेकिन तीन भाग निकले। जिस स्कॉर्पियो में ये मांग लाद रहे थे उसपर भाजपा का झंडा लगा हुआ था।ये लोग खेत के पास मांस लाद रहे थे। कोंच कोतवाल सत्यदेव सिंह ने मुखबिर की सूचना पर छापेमारी कर दो लोगों को दबोच लिया लेकिन तीन भाग निकले। मौके से पशु काटने वाले औजार भी बरामद किए गए।

 

 

स्कॉर्पियो में करीब दो क्विंटल मांस लदा था जबकि करीब 50 किलो मांस बोरी में नीचे पड़ा था। पकड़े गए लोगों के नाम शहबाज पुत्र लल्लू, नूरसफी पुत्र हनीफ बताए गए हैं। वहीं जिस गाड़ी में मांस ले जाया जा रहा था वह जालौन के हरिपुरा निवासी विकास श्रीवास्तव की है। गाड़ी विकास की मां के नाम पर रजिस्टर्ड है।

 

विकास श्रीवास्तव के चाचा डब्बू श्रीवास्तव भाजपा के सभासद रह चुके हैं। वह मौहल्ला चौधरायन से सभासद थे। छह साल पहले उनका निधन हो चुका है। मीडिया रिपोर्ट्स में सूत्रों के हवाले से बताया गया है कि गाड़ी को छुड़ाने के लिए पुलिस के पास कई भाजपा नेताओं के फोन भी आए। इसके चलते आनन फानन में गाड़ी से भाजपा का झंडा हटा दिया गया लेकिन नंबर प्लेट पर बना झंडा नहीं हट पाया। मामला मीडिया तक पहुंचने के कारण पुलिस ने तुरंत कार्रवाई कर गाड़ी सीज कर दी।

 

 

सीओ रुक्मणि ने बताया कि कोंच से मांस की तस्करी मध्यप्रदेश के सीमावर्ती जिलों में की जाती थी। ये गोरखधंधा करीब तीन साल से चल रहा था। पकड़े गए लोगों से पूछताछ की जा रही है। गाड़ी मालिक का मांस तस्करी से संबंध तस्करी से है या नहीं, जल्द ही यह साफ हो जाएगा।

 

 

वहीं स्कॉर्पियो के मालिक विकास श्रीवास्तव का कहना है कि शाहबाज मेरी गाड़ी चलाता था। वह अपनी बहन की ससुराल जाने की बात कहकर गाड़ी ले गया था। उसने दो तीन दिन में वापस आने की बात कही थी। विकास का यह बयान गले उतरता नहीं दिखाई दे रहा। वहीं भाजपा ने भी विकास श्रीवास्तव से पल्ला झाड़ लिया है। भाजपा जिलाध्यक्ष उदयन पालीवाल का कहना है कि विकास श्रीवास्तव का हमारी पार्टी से कोई वास्ता नहीं है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments